उत्तराखंड: यहां 17KM पैदल चलकर गर्भवती को पहुंचाया हॉस्पिटल

0
26
The pregnant was taken to the hospital by walking 17KM here in Uttarakhand
The pregnant was taken to the hospital by walking 17KM here in Uttarakhand

भैंसियाछाना विकासखंड के दूरस्थ गांव में प्रसव प्रसव पीड़ा होने पर महिला को डोली के सहारे अस्पताल पहुंचाया गया. भारी बारिश होने के बावजूद भी गांव के 5 पुरूष और एक महिला, गर्भवती को 17 किलोमीटर के कठिन पहाड़ी मार्ग पारकर अस्पताल ले गए. जहां सुरक्षित प्रसव कराया गया.

यह मामला अल्मोड़ा जनपद स्थित भैंसियाछाना विकासखंड के दूरस्थ गांव थिकलना का है. लीला जोशी को मंगलवार देर शाम अचानक प्रसव पीड़ा होने पर करीब साढ़े 8 बजे परिजनो ने स्थानीय वाहन चालकों से संपर्क किया. लेकिन भारी बारिश के चलते निर्माणाधीन मंगलता-त्रिनेली मोटर मार्ग खराब होने की वजह से वाहन चालकों ने मना कर दिए. गर्भवती की हालत बिगड़ती हुआ देख परिजनो ने महिला को 17 किलोमीटर दूर पैदल तय कर डोली से अस्पताल ले जाने का फैसला लिया.

भारी बारिश के बीच मे ही परिजन रात करीब 11 बजे गर्भवती को डोली में बैठाकर अस्पताल के लिए रवाना हुए. छाते के सहारे मौजूद महिला गर्भवती को भीगने से बचाती रही. करीब 6 घंटे के लम्बे सफर के बाद ग्रामीण सुबह साढ़े पांच बजे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पनुआनौला पहुंचे.इसके बाद बुधवार सुबह सुरक्षित प्रसव होने के बाद बुधवार देर शाम महिला को लेकर ग्रामीण वापस थिकलना गांव लौट आए हैं.

ग्रामीणों का कहना है कि सड़क से जोड़ने के लिए 28 किलोमीटर मंगलता-त्रिनेली मोटर मार्ग बनाया जा रहा है. जबकि गांव को सड़क से जोड़ने के लिए ग्रामीणों ने चंदे से जोलाबांज-थिकलना मोटर मार्ग भी बनाया है. लेकिन बारिश के चलते दोनों मार्गों में वाहनों की आवाजाही करना कठिन हो जाता है.ग्रामीणों ने मंगलता-त्रिनेली सड़क मार्ग शीघ्र निर्माण करने व गांव को सड़क से जोड़ने की मांग की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here