उत्तराखंड: पुलिस के जवान नही होते तो ये दोनो युवक नही बच पाते

0
34
Uttarakhand Police personnel saved the lives of 2 youths
Image:Uttarakhand Police personnel saved the lives of 2 youths (Source: Social Media)

हल्द्वानी: हर बार उत्तराखंड पुलिस के कुछ न कुछ सकारात्मक किस्से सुनने को मिलते है। आज की ऐसी ही खबर नैनीताल से आ रही है। यहां के एक थानाध्यक्ष ने दो युवकों की जान बचाई है।आइए आपको पूरी घटना की जानकारी देते है।यह मामला नैनीताल जिले के चोरगलिया थाना क्षेत्र का है। यहां के थानाध्यक्ष चोरगलिया हरेंद्र सिंह नेगी को रविवार की देर शाम को उनके पुलिस स्टेशन से सटे नाले के पास बाइक एक्सीडेंट की खबर मिली।

 इस हादसे में दोनों युवक बहुत घायल होकर सड़क पर पड़े थे।वहीं सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष अपने स्टाफ के साथ वहां पहुंचे।उन्होंने देखा कि एक युवक के बायां पैर का घुटना नीचे से कट गया है, जिसके कारण उसका खून काफी बह गया था।जब अस्पताल में फोन किया तो वहां पता चला कि वहां कोई एंबुलेंस मौजूद ही नही है। इतना पता चलते ही थानाध्यक्ष हरेंद्र सिंह नेगी ने समय न गवाते हुए और मानवता दिखाते हुए जल्दी ही अपने सरकारी वाहन से दोनो युवकों को सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी अस्पताल पहुंचाने का काम किया।समय पर इलाज के मिलने पर दोनो युवक अब खतरे से बाहर है।

 दोनो युवकों की पहचान की जा चुकी है।एक युवक का नाम कुणाल राठी पुत्र गिरिराज राठी है जो बिजनौर, उत्तर प्रदेश का रहने वाला है।वहीं दूसरे युवक का नाम राजवीर सिंह पुत्र शिव प्रभात सिंह जो मुरादाबाद के कुंडेश्वरी जिले का रहने वाला है।लेकिन इस समय दोनो तिकोनिया, हल्द्वानी में रह रहे थे।एक बार फिर उत्तराखंड पुलिस ने यह मानवीय कार्य कर इंसानियत की मिसाल पेश कर दोनो युवकों की जिंदगी बचाई। 

 वहीं दोनो युवकों के परिजनों ने उत्तराखंड पुलिस को धन्यवाद कर उनके इस मानवीय काम की सरहाना की। वहीं सोशल मीडिया पर भी यह खबर तेजी से फैल रही है।लोग इस वीडियो को देख उत्तराखंड पुलिस की तारीफ कर रहे हैं साथ ही उन्हे सैल्यूट भी किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here