वर्ल्ड कप फाइनल क्या हारी टीम इंडिया, हसीन जहां हाथ धोकर पड़ीं मोहम्मद शमी के पीछे!

0
48
Did Team India lose the World Cup final? Haseen Jahan ran behind Mohammed Shami!
Did Team India lose the World Cup final? Haseen Jahan ran behind Mohammed Shami!

रविवार, 19 नवंबर को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 6 विकेट से हरा दिया. ऑस्ट्रेलिया की शानदार परफॉर्मेंस ने भारत के तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने के सपने को तोड़कर रख दिया. वहीं, दूसरी तरफ इस वर्ल्ड कप के दौरान भारत में दो नामों की काफी चर्चा हुई. ये दो नाम हैं- भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और उनकी पत्नी हसीन जहां के. दरअसल, वर्ल्ड कप में अपनी धुआंधार परफॉर्मेंस के चलते शमी ने खूब सुर्खियां बटोरीं. वहीं, दूसरी तरफ हसीन जहां ने अपने पति शमी को लेकर खूब बयानबाजी की, जिसकी वजह से वह भी चर्चा के केंद्र में बनी रहीं. तलाक मामले के चलते शमी से अलग रह रहीं हसीन जहां ने अब एक बार फिर इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया है, जिसकी चर्चा तेज हो गई है.

दरअसल, मंगलवार, 21 नवंबर को इंस्टाग्राम पर हसीन जहां ने लिखा, “मेरी दुआ का असर इतना बुलंद है तो सोच बदुआ का क्या होगा…ये तो सभी जानते हैं! दुआ और बदुआ का असर जल्दी नहीं होता है.”

 

आपको बता दें कि सोशल मीडिया यूजर्स हसीन के इस पोस्ट को मोहम्मद शमी से जोड़कर देख रहे हैं. दरअसल, इससे पहले हसीन ने कहा था कि वर्ल्ड कप के लिए वह टीम इंडिया को शुभकामनाएं दे सकती हैं पर शमी को नहीं. मगर हसीन ने अपने इस पोस्ट में शमी के नाम का कहीं भी जिक्र नहीं किया है. फिलहाल, आने वाला वक्त ही बता सकता है कि हसीन ने अपने इस पोस्ट में किस पर तंज कसा है? इससे पहले यूपी तक से खास बातचीत में मोहम्मद शमी को लेकर कमेंट करते हुए हसीन जहां ने कहा था, “कभी-कभी दिल में यह बाते आतीं हैं जितना अच्छा वो प्लेयर है, उतना अच्छा इंसान भी होता. हम अच्छे से जिंदगी जी पाते. मेरी बेटी, मैं और मेरे हस्बैंड एक खुशहाल जिंदगी जी पाते. शमी के लालच और गंदे दिमाग की वजह से हम तीनों को ही फेस करना पड़ रहा है. हालांकि उसे जो भुगतना पड़ रहा है, उसे वो अपने पैसे से शो ऑफ कर छिपाने की कोशिश कर रहा है.”

क्या शमी अपनी बेटी से बात करते हैं?

‘बेबो (शमी की बेटी) को लेकर शमी का फोन आता है?’ इसके जवाब में हसीन जहां ने कहा, “कभी नहीं, कभी नहीं. मेरे से उसकी जो दुश्मनी है वो अपनी जगह है, लेकिन फिर भी यह अहसास होता कि वो पिता के रूप में ठीक है. ये चीजें न मैंने कभी अहसास कीं, न उसने करवाईं. और मेरी बच्ची ने तो कभी अहसास नहीं किया कि उसके फादर हैं. काश वो एक अच्छा प्लेयर होने के साथ-साथ अच्छा इंसान और अच्छा पिता भी होता.”

Advertisement
Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here