यात्री के सीने के आर-पार हुई लोहे की रॉड:हार्ट सुरक्षित, सरिया के 2 टुकड़े किए; कानपुर में 6 डॉक्टरों ने 2 घंटे में निकाला

0
92
Iron rod passed through the chest of the passenger: Heart safe, bar cut into 2 pieces; In Kanpur, 6 doctors evacuated in 2 hours
Iron rod passed through the chest of the passenger: Heart safe, bar cut into 2 pieces; In Kanpur, 6 doctors evacuated in 2 hours

रविवार रात प्रयाग से जालौन जा रही बस को लोडर ने टक्कर मार दी। इस दौरान सीट के ऊपर लगा लोहे का रॉड यात्री अलख प्रसाद (65) की पीठ में दाहिनी तरफ घुसकर आर-पार हो गया। एक तरफ से टूटा रॉड यात्री की पीठ में बरछी की तरह घुस गया। घटना विजयनगर में गन फैक्टरी के पास हुई। पुलिस ने एंबुलेंस वाहन से घायल अलख प्रसाद को हैलट इमरजेंसी पहुंचाया। उनकी हालत गंभीर थी। घायल को तुरंत भर्ती करके विभिन्न विशेषज्ञता के डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेशन करके उनकी जान बचा ली। उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया है। दाहिनी तरफ का हाथ, पैर सामान्य तरीके से काम कर रहा है।

कोटरा, जालौन के रहने वाले अलख प्रसाद को शॉक की स्थिति में हैलट इमरजेंसी लाया गया था। दाहिनी तरफ पीठ में रॉड आर-पार देखकर देखने वालों के शरीर में झुरझुरी सी दौड़ गई। हैलट इमरजेंसी के पीआरओ ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरके सिंह को रोगी की स्थिति बताई। रॉड काटने के लिए कटर की जरूरत थी। रात की वजह से कटर नहीं मिल रहा है। बाद में किसी तरह प्लंबर अनुराग कहीं से कटर ढूंढकर लाया। उसने इसका पैसा नहीं लिया। इमरजेंसी में कुछ देर रोगी की हालत स्थिर करने के बाद ओटी में शिफ्ट किया गया।

 

रोगी को डॉ. प्रियेश शुक्ला के अंडर में भर्ती किया गया। टीम में सर्जरी विभागाध्यक्ष और प्लास्टिक सर्जन डॉ. प्रेम शंकर, कार्डिएक सर्जन डॉ. अनवर समेत अन्य विशेषज्ञ रहे। रॉड काटने के बाद सर्जरी में दो घंटे लगे। रोगी के फेफड़े में चोट नहीं आई थी। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरके सिंह ने बताया कि सर्जरी के बाद रोगी को आईसीयू में रखा गया है। उसकी स्थिति ठीक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here