मोबाइल लूटने वाला एनकाउंटर में मारा गया, BTech छात्रा बदमाशों से भिड़ी तो ऑटो से घसीटा; लूट का VIDEO आया सामने

0
8973
Mobile robber killed in encounter, BTech student dragged by auto when she fought with miscreants; Video of robbery surfaced
Mobile robber killed in encounter, BTech student dragged by auto when she fought with miscreants; Video of robbery surfaced

गाजियाबाद पुलिस ने आज सोमवार को इंजीनियरिंग की छात्रा कीर्ति से मोबाइल लूटने वाले आरोपित जितेंद्र उर्फ जीतू को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। इस बीच, कीर्ति से लूट का फुटेज सामने आया है।

वीडियो में देखा जा रहा है कि करीब पांच सेकंड तक बदमाश ऑटो के साथ बाइक चलाते हुए कीर्ति से लूटपाट कर रहे हैं। एक सेकंड से भी कम समय में स्नैचिंग को अंजान देकर भागने वाले बदमाशों से कीर्ति पांच सेकंड तक लोहा लेती रही। लूट में नाकाम होता देख मुठभेड़ में मारे गए जितेंद्र ने उसको ऑटो से खींच कर गिराया और मोबाइल लूट कर भाग गया।

घटना के 50 घंटे बाद छात्रा की मौत

उल्लेखनीय है कि एनएच-9 पर बेखौफ लुटेरों का शिकार बनी बीटेक छात्रा कीर्ति की करीब 50 घंटे तक चले उपचार के बाद आखिर मौत हो गई। ऑटो से गिराए जाने की वजह से गंभीर रूप से जख्मी छात्रा का एक प्राइवेट अस्पताल में उपचार चल रहा था।

 

डीसीपी ग्रामीण विवेक ने इस मामले में मसूरी थाने के एसएचओ रविंद्र चंद पंत को निलंबित कर दिया है, जबकि इंस्पेक्टर तनवीर आलम और पुनीत कुमार को लाइन हाजिर किया गया है। हापुड़ के पन्नापुरी में रहने वाले लोको पायलट रविंद्र सिंह की बेटी कीर्ति एबीईएस इंजीनियरिंग कालेज में बीटेक कंप्यूटर साइंस प्रथम वर्ष की छात्रा थी।

 

क्या है पूरा मामला?

27 अक्टूबर को शाम साढ़े चार बजे वह सहपाठी दीक्षा के साथ आटो से घर जा रही थी। रास्ते में हाईटेक कालेज के सामने करीब पौने पांच बजे अपाचे बाइक सवार दो बदमाशों ने कीर्ति के मोबाइल पर झपट्टा मारा। उसके विरोध पर बाइक पर पीछे बैठे जितेंद्र ने उसे खींचकर आटो से गिरा दिया था और मोबाइल लूट के बाद दोनों फरार हो गए।

 

सीधे सड़क पर सिर लगने और घिसटने से कीर्ति के ब्रेन में फ्रैक्चर हो गया था। इसे लेकर कीर्ति की शनिवार को ही सर्जरी की गई थी। तभी से वह कोमा में थी। उसे नेहरू नगर स्थित यशोदा अस्पताल में वेंटिलेटर पर रखा गया था। रविवार को उसका रक्तचाप ऊपर-नीचे होता रहा और आक्सीजन का स्तर भी घटा। चिकित्सकों का कहना है कि काफी प्रयास के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here