Ankita Bhandari Murder Case: रो-रोकर बोली अंकिता भंडारी की मां- उन दरिंदों को मुझे सौंप दो, मैं करूंगी उनका संहार

0
1250
Ankita Bhandari mother statment
Ankita Bhandari mother statment (Image Credit: Social Media)

अंकिता भंडारी हत्याकांड में अंकिता की मां पूरे सिस्टम से लड़ रही है बता दें कि अंकिता की मां आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग कर रही है वह अपनी बेटी का न्याय चाहती हैं अंकिता की मां ने कहा कि “दरिंदों ने मेरी बेटी के साथ बहुत गलत किया ऐसा सोचकर ही अजीब सा महसूस होता है मुझे इतनी हिम्मत दें कि मैं उनका संहार कर सकूं जिन्होंने इतनी गंदी मानसिकता वाले बेटे को पैदा किया है वह भी देखेंगे ”

साथ ही अंकिता के मा ने प्रशासन के खिलाफ भी धोखाधड़ी का आरोप लगाया है बता दे कि अंकिता की मां को जबरदस्ती आईसीयू में भर्ती कर दिया गया था जब वह आईसीयू में भर्ती थी उसी दौरान अंकिता का दाह संस्कार कर दिया गया अंकिता की मां प्रशासन द्वारा किए गए जल्दबाजी के दाह संस्कार से बेहद दुखी है उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं दी गई और उनसे छुपा कर उनकी बेटी अंकिता भंडारी का दाह संस्कार किया गया काफी समय अस्पताल में बीत जाने के बाद उन्हें सूचना मिली कि उनकी बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया गया है उन्होंने प्रशासन पर सवाल उठाए कि इतनी जल्दी क्या पड़ी थी उन्होंने इतनी जल्दी बेटी का अंतिम संस्कार क्यों किया ? वह अंतिम बार अपनी बेटी का चेहरा देख पाइं

बता दे कि अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार श्रीनगर के आईटीआई घाट पर किया गया अंकिता की चिता को मुखाग्नि उसके भाई द्वारा दी गई बता दे कि उसके भाई और पिता पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं थे जिसके बाद उन्होंने अंकिता का पुन पोस्टमार्टम कराने की मांग की थी लेकिन प्रदेश मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा परिजनों से अनुरोध किया गया कि अंतिम संस्कार कर दिया जाए इसके बाद ही अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार किया गया वही सीएम ने आरोपी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है

अंकिता की मौत की खबर के बाद अंकिता की मां एक ही रट लगाई हुई है वह बार-बार रो-रोकर कह रही है कि “मेरी बेटी को न्याय दो मेरी बेटी को न्याय दो उसके हत्यारों को कभी मत छोड़ना” वही पीड़िता की मां ने कहा कि उन्हें लिखित रूप में दिया जाए कि आरोपियों को इस दिन फांसी होगी और उन्हें फांसी देने का अधिकार भी उनको ही दिया जाए उन्होंने कहा कि” मैं अपना न्याय स्वयं करूंगी पुलिस को इतने साथ से मिल चुके हैं लेकिन तब भी पुलिस में इतनी हिम्मत नहीं कि वह आरोपियों को फांसी की सजा दें”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here