खटीमा की मानसी रौतेला को मिली ISRO में एंट्री, पूरे देश से केवल 6 छात्रों का हुआ चयन

0
29
Khatima's Mansi Rautela got entry in ISRO, only 6 students were selected from all over the country
Khatima's Mansi Rautela got entry in ISRO, only 6 students were selected from all over the country

उत्तराखंड राज्य की एकऔर होनहार बेटी ने अपनी मेहनत व लगन से अपने सपने को पूरा कर दिया है. उस होनहार बेटी का नाम मानसी रौतेला है. जोकि उत्तराखंड राज्य के खटीमा अमाऊ  की रहने वाली है. मानसी रौतेला का चयन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ रिमोट सेंसिंग भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ( इसरो )अंतरिक्ष विभाग भारत सरकार के संस्थान में एमटैक रिमोट सेंसिंग के लिए हुआ है.

मानसी के पिता श्री नरेंद्र सिंह रौतेला थारू राजकीय इंटर कॉलेज खटीमा में कार्यरत हैं. उनको शैलेश मटियानी पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. वहीं दूसरी ओर मानसी की माता पूनम रौतेला शिक्षिका है. m-tech में चयनित होने से पहले मानसी ने बीएससी जियोलॉजी और एमएससी रिमोट सेंसिंग एंड जीआईएस से किया है.

इसरो में मानसी अपना अध्ययन अर्बन प्लैनिंग में करेंगे. जिसके लिए पूरे भारत में सिर्फ 6 विद्यार्थियों को ही चुना गया है. मानसी देश को अपनी सेवाएं रिमोट सेंसिंग के क्षेत्र में देना चाहती हैं. मानसी का परिवार मूल रूप से उत्तराखंड राज्य के मनान अल्मोड़ा का रहने वाला है. मानसी के पिता नरेंद्र सिंह रौतेला जोकि अटल उत्कृष्ट थारु राजकीय इंटर कॉलेज के शिक्षक व एनसीसी अफसर है.

उनका चयन प्रथम उत्तराखंड विज्ञान शिक्षा प्रसार सम्मान-2022 के लिए हुआ था. यह पुरस्कार उनको उनकी सराहनीय सेवा के लिए दिया गया था. इससे पहले उन्हें प्रथम शैलेश मटियानी शैक्षिक उत्कृष्टता पुरस्कार 2008 दिया गया था. इन पुरस्कारों के अलावा उन्हें सर्वश्रेष्ठ एनसीसी अधिकारी उत्तराखंड पुरस्कार और पर्यावरण में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए यूनिसेफ की ओर से अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here