मॉक ड्रिल: मसूरी रोपवे में ट्रॉली में फंसी जान, SDRF ने किया रेस्क्यू, देखिये वीडियो

0
12

एसडीआरएफ के द्वारा अपनी रेस्क्यू क्षमता को बढ़ाने के लिए समय-समय पर जनपद और राज्य स्तर पर विभिन्न आपदाओं के संबंध मैं मौत अभियान कराए जाते हैं और अन्य इकाइयों के द्वारा कराए जाने वाली मॉक ड्रिल में भी प्रतिभाग किया जाता है. आज दिनांक 12 मई 2023 को उत्तराखंड राज्य के देहरादून के मसूरी में रोपवे पेट्रोल फसने की घटना कि मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया.

क्योंकि बीते साल एक बेहद दुखद रोपवे हादसा झारखंड राज्य के देवघर में त्रिकूट पर्वत पर हुआ था. इसीलिए ऐसी किसी घटना को संभालने के लिए ऐसे मौके अभियान समय-समय पर कराए जाते हैं. इन अभियानों में एसडीआरएफ के द्वारा प्रतिभाग कर अपनी कार्यदक्षता एवम कुशलता को निरन्तर बढ़ाया जाता है. ऐसी ही एक मॉक ड्रिल आज मसूरी रोपवे पर आयोजित की गई.

मॉक ड्रिल में SDRF द्वारा अन्य बचाव इकाइयों जैसे- NDRF, ITBP, सिविल पुलिस, फायर सर्विस, नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग इत्यादि के साथ समन्वय स्थापित कर राहत एवं बचाव कार्य का अभ्यास किया गया. ड्रिल में एसडीआरएफ के जवानों के द्वारा रोप रेस्क्यू की अलग-अलग तकनीकों का प्रयोग करके रोपवे के बीच में फंसी ट्रॉली तक अपनी पहुंच बनाइए और ट्रॉली में फंसे 4 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया. इस मॉक ड्रिल का उद्देश्य इस तरह की घटनाओं के लिए पहले से तैयार रहना है. ताकि जब भी ऐसी कोई घटना हो तो कम से कम समय में त्वरित प्रतिवादन करके वाले नुकसान को कम किया जा सके और अन्य बचाओ इकाइयों के साथ समान रूप से मिलकर रेस्क्यू कार्य को अच्छे से और निपुणता से किया जा सके.

बीते दिनों राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के दिशा-निर्देशन में पूर्ण हो चुकी घटना प्रत्योत्तर प्रणाली सम्बन्धी राज्य स्तरीय मॉक ड्रिल में भी एसडीआरएफ टीम के द्वारा हिस्सा लिया गया था. उस मॉक ड्रिल में एनडीएमए के सदस्यों द्वारा एसडीआरएफ के काम की बहुत ज्यादा प्रशंसा और सराहना की गई थी. एसडीआरएफ की टीम में काम करने वाले चंद लोगों के नाम यह है.

1.ASI विरेन्द्र प्रसाद काला

2.HC मनोज जोशी

3.LFM रवि चौहान

4.HC सुशील कुमार

5.HC दीपक पंत

6.पेरामेडिक्स दीपक रमोला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here