उत्तराखंड में अब ऑलवेदर रोड के लिए एक भी पेड़ नहीं कटेगा, अब ऐसे बनेगी सड़के

0
44
Not even a single tree will be cut in Uttarakhand for Allweather Road.
Photo:Not even a single tree will be cut in Uttarakhand for Allweather Road. (Source: Social Media)

देहरादून: इस साल ऑल वेदर रोड परियोजना पूरी हो जायेगी।यह परियोजना चारधाम यात्रा को रफ्तार दे सकती है।वहीं अब इस परियोजना में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग विकास मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि इसके निर्माण के लिए एक भी पेड़ को नहीं काटा जाएगा और पर्यावरण की सुरक्षा की जायेगी।यह बात उन्होंने बीजेपी का दृष्टि पत्र जारी करते समय कही।इसके अलावा उन्होंने सत्ता में आने के बाद प्रदेश सरकार ने जो योजनाएं प्रस्तावित की है उन्हे गिनाईं,इसके अलावा उन्होंने विकास को गति देने के लिए केंद्रीय योजनाओं के जरिए देने की भी बात कही।

केंद्रीय मंत्री गडकरी द्वारा बताया गया कि यह परियोजना उत्तराखंड की लाइफ लाइन के रूप।में प्रकाशित हो सकती है।क्योंकि इसके तहत अब पेड़ ट्रांसप्लांट द्वारा काम किया जाएगा।इस काम में पूर्व सैनिकों के साथ युवाओं की सहयता भी ली जाएगी।उन्होंने पर्यावरण संबंधी चिंताओं का समाधान किया है।

इस रोड के निर्माण के बाद चारधाम यात्रा और भी सुगम हो जायेगी साथ ही चीन सीमा तक पहुंचने में हमारी सेना को आसानी होगी।इसके लिए राज्य के सात स्थानों पर रोपेव बनाए जा रहे हैं।साथ में औली से गौरसौं,ऋषिकेश से नीलकंठ, केदारनाथ,नैनीताल में रानीबाग,पिथौरागढ़ और हेमकुंड में जल्दी ही तीन रोपवे परियोजना का निर्माण भी शुरू होगा।

इसके अलावा उन्होंने भारत माला परियोजना की बात भी की जिसके तहत टनकपुर से पिथौरागढ़ और पिथौरागढ़ से लिपुलेख तक सड़क बन रही है। इस परियोजना से कैलाश मानसरोवर की यात्रा में आसानी होगी।गडकरी द्वारा कहा गया कि राज्य में परिवहन सुविधाओं के विकास हेतु बहुत सी बड़ी परियोजनाओं पर काम किया जा रहा है।टिहरी में भी कई संख्या में एक्सप्रेस वे का निर्माण होगा साथ में सी प्लेन सेवा भी जल्द ही शुरू की जाएगी।

कुछ समय बाद दिल्ली से दून तक की दूरी भी घट कर दो घंटे की होगी।देश में बहुत सी जगह सड़क परिवहन मंत्रालय द्वारा सड़कों का निर्माण किया जा रहा है,जिससे लोग जल्दी ही अपने दूर के गंतव्य स्थान तक आसानी से विमान की जगह सड़कों से आना शुरू करेंगे।साथ ही उन्होंने यह भी कहा,” देश में विकास परियोजनाओं के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है, बल्कि दृष्टि की कमी है।नेत्र दान तो किया जा सकता है लेकिन दृष्टि का दान संभव नहीं है।”

इस सब के अलावा बीजेपी द्वारा अपने दृष्टि पत्र में कई बड़े ऐलान महिलाओं,किसानों,युवाओं और सैनिकों के लिए किए हैं। सत्ता के लिए उन्होंने सड़क के साथ साथ हवाओं तक के भी मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर के वादे किए हैं। पहाड़ों पर रोप वे और इसड़कों के लिए एक्सप्रेस-वे पर भी जोर दिया गया है,साथ में पर्वतमाला परियोजना के बारे में भी बताया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here