गुमशुदगी दर्ज कराने वाला रिजॉर्ट मालिक निकला हत्यारा, भीड़ ने आरोपियों को जमकर पीटा, जानिए कब क्या हुआ था

0
6516
The resort owner who filed a missing person turned out to be the killer, the mob beat up the accused, know what happened when
The resort owner who filed a missing person turned out to be the killer, the mob beat up the accused, know what happened when (Image Credit: Social Media)

अंकिता भंडारी हत्याकांड के मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है बता दें कि 19 वर्षीय अंकिता भंडारी 6 दिन पहले गायब हुई थी जिसके बाद परिजनों द्वारा गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई थी लेकिन संपूर्ण मामले की जांच पड़ताल राजस्व पुलिस कर रही थी जिसके बाद कुछ समय पश्चात यह मामला लक्ष्मण झूला थाना चौकी को सौंप दिया गया जिसमें 24 घंटे में कार्यवाही करते हुए पुलिस ने तीनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया बता दें कि पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक्स सर्विलांस और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अंकिता भंडारी का पता लगाया सीसीटीवी फुटेज में पता चला कि अंकिता भंडारी 18 सितंबर की रात को 8:00 से 9:00 के बीच आरोपियों के साथ ऋषिकेश गई थी लेकिन वापस लौटने पर केवल आरोपी ही आए।

अंकिता भंडारी हत्याकांड के मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है वहीं घटना के बाद आरोपियों ने अपनी सारी सच्चाई कबूल की बता दे कि 18 सितंबर की शाम को पुलकित आर्य और अंकिता दोनों के बीच वाद विवाद हुआ था जिसे लेकर पुलकित ने अपने अन्य दोस्तों को बताया कि अंकिता गुस्से में है उसे ऋषिकेश लेकर चलते हैं जिसके बाद अंकिता पुलकित और पुलकित आर्य के अन्य 2 साथी अलग अलग गाड़ियों से ऋषिकेश की तरफ गए पुलकित अंकिता को स्कूटी पर लेकर आगे निकल गया अंकिता और पुलकित और उनके साथी बैराज ऋषिकेश चौकी में पहुंचे जिसके बाद सभी आरोपियों ने वहां पर शराब पी शराब पीने के बाद सभी आरोपी चीला रोड के नहर के पास बैठे थे कि तभी अचानक एक बार फिर से अंकिता और पुलकित के बीच में कहासुनी शुरू हो गई इसी दौरान अंकिता का झगड़ा सभी आरोपियों से हो गया अंकिता ने रिसोर्ट की सारी काली करतूतों को बाहर बताने की धमकी दी जिसके बाद अंकिता ने गुस्से में आरोपी पुलकित का मोबाइल नहर में फेंक दिया इसके बाद पुलकित ने अंकिता के साथ हाथापाई शुरू कर दी और उसे नहर की में धक्का दे दिया नहर में धक्का देने के बाद अंकिता डूबने लगी वह एक दो बारी ऊपर भी आई मदद के लिए पुकारा लेकिन आरोपियों ने कोई भी दया नहीं दिखाई

बता दें कि आरोपियों को होटल के ही कर्मचारी अभिनव और कुश ने अंकिता के साथ ऋषिकेश की ओर जाते हुए देख लिया था जिसके बाद आरोपियों ने एक और साजिश रची जिसमें उन्होंने रिसोर्ट के शेफ मनवीर को फोन पर 4 आदमियों का खाना बनाने के लिए कहा ताकि होटल के सभी कर्मचारियों को लगे कि अंकिता उनके साथ ही है

इस प्रकार सभी आरोपी वापस रिसोर्ट में पहुंचे लेकिन उनके साथ अंकिता नहीं आई जब शेफ मनवीर ने आरोपियों को अंकिता के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि फिलहाल वह उनके साथ में ही हैं इसके बाद आरोपी अंकित अंकिता के लिए साजिश के अनुसार शेफ खाना लेकर अंकिता के कमरे में गया और वहां पर रखकर आ गया

इस प्रकार आरोपियों ने अंकिता के खिलाफ साजिश रची और उसे मौत के घाट उतार दिया वही सबूतों के आधार पर पुलिस ने पुलकित आर्य, अंकित उर्फ पुलकित गुप्ता और सौरभ भास्कर को गिरफ्तार कर लिया है वहीं तीनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया है।

बता दे कि पुलकित आर्य भाजपा नेता विनोद आर्य का बेटा है विनोद आर्य राज्य मंत्री भी रह चुके हैं वही इस संपूर्ण मामले में विनोद आर्य का बयान भी सामने आया है उन्होंने कहा है कि उनके बेटे पुलकित को पुलिस केवल पूछताछ के लिए ले गई है हम पूरी जांच पड़ताल में सहयोग करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here