सियाचिन में तैनात अग्निवीर की ड्यूटी के दौरान मौत, सेना ने दी श्रद्धांजलि

0
2518
Country's first Agniveer martyred in Siachen
Country's first Agniveer martyred in Siachen

सियाचिन में तैनात एक अग्निवीर (Agniveer) गवते अक्षय लक्ष्मण की ड्यूटी के दौरान मौत हो गई है. लक्ष्मण भारतीय सेना की फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स (Fire and Fury Corps) का हिस्सा थे. न्यूज एजेंसी PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, अक्षय लक्ष्मण महाराष्ट्र के रहने वाले थे. फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स ने ही 22 अक्टूबर को गवते अक्षय लक्ष्मण (Gawate Akshay Laxman) की मौत होने की जानकारी दी. सेना ने अक्षय लक्ष्मण के बलिदान को श्रद्धांजलि दी है. अभी यह पता नहीं चल पाया है कि अग्निवीर गवते अक्षय लक्ष्मण की मौत किस वजह से हुई है. 

सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे और सेना के सभी रैंक के कर्मियों ने महाराष्ट्र के अग्निवीर गवते अक्षय लक्ष्मण की मौत पर शोक व्यक्त किया है. काराकोरम पर्वतीय श्रृंखला में लगभग 20 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित सियाचिन ग्लेशियर को दुनिया के सबसे ऊंचे सैन्य क्षेत्र के तौर पर जाना जाता है. यहां तैनात सैनिकों को बहुत अधिक ठंड और तेज हवाओं से जूझना पड़ता है.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, गवते अक्षय लक्ष्मण ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले देश के पहले अग्निवीर हैं. इससे पहले 10 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर के पुंछ में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के पास तैनात एक अग्निवीर अमृतपाल सिंह की मौत हुई थी. अग्निवीर अमृतपाल सिंह (Agniveer Amritpal Singh) को सेना की ओर से गार्ड ऑफ ऑनर नहीं दिए जाने की खबर आई थी. इस पर काफी विवाद भी हुआ था. इसके बाद सेना ने बयान जारी कर बताया था कि अमृतपाल की मौत सुसाइड से हुई थी, इसलिए उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर नहीं दिया गया था. बताया गया था कि नियमों के हिसाब से इस तरह के मामलों में मृतक को सैन्य सम्मान नहीं दिया जाता है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here